You are here
Home > Society > घंटो जाम में फँसी रही एम्बुलेंस; ट्रैफिक पुलिस नदारद

घंटो जाम में फँसी रही एम्बुलेंस; ट्रैफिक पुलिस नदारद

राजधानी में यातयात व्यवस्था बद से बदतर। प्रशासन के साथ स्थानीय नागरिक एवं ऑटो व ई-रिक्शा चालक जिम्मेदार।

पटना: भिखना पहाड़ी से गाँधी मैदान तक गाड़ियों सहित एम्बुलेंस मंगलवार को घंटों जाम में फँसी रही। सुुुबह 10 बजे से लगे इस लम्बे जाम से यातयात व्यवस्था बिगड़ गई। इस जाम के लगने का मुख्य कारण मछुआ टोली चौराहे पर ट्रैफिक पुलिस का नदारद होना था।

एम्बुलेंस
घंटों जाम में मरीज लिए फँसी रही एम्बुलेंस, सुध लेने वाला कोई नहीं मौजूद
गौरतलब है कि दिनकर चौक, सैदपुर और गोविन्द मित्रा रोड से आती गाड़ियाँ इस चौराहे से गुजरकर अपने गंतव्य की ओर जाती हैं। इसी बीच एक एम्बुलेंस हृदय रोगी को लिए इस भयंकर जाम में फँस गई। अपने मौलिक कर्तव्यों से बेख़बर वाहनचालक बेवजह हॉर्न बजाते रहे। ट्रैफिक जाम को हटता ना देख मरीज के परिजन स्थानीय युवकों के साथ मिलकर खुद ही जाम हटाने के अथक प्रयास में लगे रहे। फ़ोन करने के घंटो बाद एक ट्रैफिक हवलदार मछुआ टोली चौराहे पर आता है।
इसी बीच कई यात्री आक्रोशित दिखे। लोगों को सैदपुर से गाँधी मैदान तक पैदल ही चलकर आना पड़ा। जाम में फँसे एम्बुलेंस को भी घंटों मशक्कत करनी के बाद जाम से निकाला गया। कई लोग ऑफिस जाने के लिए लेट हो गए और इसके लिए प्रशासन के कामचोरी को जिम्मेवार ठहराया। स्थानीय लोग इसे रोज की घटना बताते है। वहीं आम नागरिक इस जाम के झंझट से बेहाल है तथा इस समस्या का समाधान नहीं निकाल पा रहे और यातायात विभाग मस्ती में मौज उड़ा रही है। ●
फ़ोटो साभार: पवन राज
Pawan Raj
Pawan Raj
Pawan Raj is a dreamer who has dreamed of bringing citizen journalism to the masses. That is how THE HIND PARIDHAN came into existence.

2 thoughts on “घंटो जाम में फँसी रही एम्बुलेंस; ट्रैफिक पुलिस नदारद

Comments are closed.

Top